अजब-गजबः रंगीन कौवा जो गाता भी है! दिलेर इतना कि बाघ के मुंह से निवाला छीन लाता है | mp, sagar, colorful crow, singing crow, white crow, rare bird, tiger’s dentist crow

सागर, 24 सितंबर। कौवे केवल काले नहीं होते, रंगीन भी होते हैं और इन्हें गाना भी पसंद है। इनकी आवाज काले कौवों जैसी कर्कश आवाज नहीं होती है, बल्कि से सुरीली आवाज निकालते हैं। कभी-कभी अभास होता है कि ये गा रहे हैं। मप्र के बुंदेलखंड से लेकर भारतीय उपमहाद्वीप और दक्षिण पूर्व एशिया के आसपा के इलाकों में रंगीन कौवे पाए जाते हैं। सामान्यतः यह आबादी से दूर रहते हैं। हालांकि सामान्य कौवों की तरह इन्हें भी जोड़े में या समूह में रहना पसंद होता है। यह जंगलों के आसपास ज्यादातर पाए जाते हैं। इस इलाके के यह मूल निवासी हैं। इनका वैज्ञानिक नाम रूफस ट्रीपी () है। ये कौवा परिवार के ही सदस्य हैं।

English summary

Crows are not only black, they are also colorful and they also like to sing. Their voice is not a hoarse voice like that of black crows, but rather they make a melodious sound. Sometimes it feels like they are singing. Colorful crows are found in the surrounding areas of the Indian subcontinent and Southeast Asia from Bundelkhand in MP.

Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.