अब संसद में “सर” कहकर महिलाओं को नहीं किया जाएगा संबोधित, शिवसेना सांसद के अनुरोध पर किया गया ये बदलाव | Now in Parliament “No, Sir”Gender-neutral words will now be used to answer parliamentary questions.

India

oi-Bhavna Pandey

|

Google Oneindia News

नई दिल्ली, 21 सितंबर: संसद में सालों से निभाई जा रही एक परंपरा का अंत होने जा रहा है। संसद में पुरुषों की तरह महिलाओं को भी सर कहकर संबोधित किया जाता रहा है लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। इसकी वजह है कि अब संसदीय प्रश्नों के उत्तर अब gender-neutral शब्दों का प्रयोग किया जाएगा। सर का संबोधन महिलाओं के लिए प्रयोग नहीं होगा। ये शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी के अनुरोध के बाद संभव हुआ है।

priyankachatuvdi

प्रियंका चतुर्वेदी ने बीते माह संसदीय कार्य मंत्री को एक लेटर लिखा था जिसमेंन उन्‍होंने लिखा था कि, “संसद में उठाए गए सवालों के जवाब देते समय सर वाक्यांश को अक्सर उन मामलों में प्रयोग किया जाता है जहां उत्तर नगेटि होता है। एक महिला सांसद के रूप में लोकतंत्र के मंदिर – संसद द्वारा ही संस्थागत लिंग को मुख्यधारा में लाने की पहल की जाए। संसद ने सांसद के इस अनुरोध को स्‍वीकार किया और अब महिला सांसदों या महिला अध्‍यक्ष को सर के बजाय मैडम कहकर एड्रेस किया जाएगा।

प्रियंका चतुर्वेदी ने अपने अनुरोध को संसद द्वारा स्‍वीकार किए जाने की जानकारी ट्टिटर पर दी और लिखा छोटा कदम, बड़ा अंतर। मंत्रालयों से लेकर महिला सांसदों तक के सवालों के जवाब में संसद में विसंगति को दूर करने के लिए राज्यसभा सचिवालय को धन्यवाद। अब से जवाब मंत्रालयों की ओर से जेंडर न्यूट्रल होंगे।

सुश्री चतुर्वेदी ने अपने पत्र में तर्क दिया था कि “हमारा संविधान समानता के सिद्धांत पर आधारित है … हालांकि यह एक छोटे से बदलाव की तरह लग सकता है, लेकिन यह महिलाओं को संसदीय प्रक्रिया में उनका उचित प्रतिनिधित्व देने में एक लंबा रास्ता तय करेगा।”

महाराष्ट्र की सांसद ने 20 सितंबर को राज्यसभा सचिवालय से उनके लेटर पर भेजे गए उत्‍तर को शेयर किया। जिसमें लिखा हुआ है कि “सदन की सभी कार्यवाही (संसदीय प्रश्नों के उत्तर सहित) अध्यक्ष को संबोधित हैं … हालांकि, मंत्रालयों को सूचित किया जाएगा राज्यसभा के अगले सत्र से gender-neutral उत्तर प्रस्तुत करें।”

English summary

Now in Parliament “No, Sir”Gender-neutral words will now be used to answer parliamentary questions.

Story first published: Wednesday, September 21, 2022, 16:39 [IST]

Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.