‘ऋषि सुनक वापस आ जाओ’, लिज ट्रस को प्रधानमंत्री बनाकर क्यों पछता रहे हैं ब्रिटेन के लोग? | rishi Sunak come back britain says after Liz Truss made UK economy worse in a month

ऋषि सुनक बार बार दे रहे थे चेतावनी

ऋषि
सुनक
बार
बार
दे
रहे
थे
चेतावनी

प्रधानमंत्री
चुनाव
के
दौरान
जब
लिज
ट्रस
एक
के
बाद
एक
लोक
लुभावन
वादे
कर
रहीं
थीं,
उस
वक्त
ऋषि
सुनक
बार
बार
चेतावनी
दे
रहे
थे
और
उन्होंने
साफ
तौर
पर
न्यूज
डिबेट
में
कहा
था,
कि
वो
ऐसे
वादे
नहीं
कर
सकते
हैं,
जिन्हें
पूरा
करना
संभव
नहीं
हो।
जबकि,
लिज
ट्रस
ने
टैक्स
कम
करने
और
ऊर्जा
बिल
को
कम
करने
का
वादा
किया
था
और
वो
20
हजार
से
ज्यादा
वोटों
से
चुनाव
जीत
गईं
थीं।
वहीं,
अब
ब्रिटेन
के
लोग
बहस
के
वीडियो
सोशल
मीडिया
पर
व्यापक
रूप
से
साझा
कर
रहे
हैं,
जिसमें
ऋषि
सुनक
को
वापस
आने
के
लिए
कहा
गया
है।
ऐसे
ही
एक
वीडियो
में,
ऋषि
सुनक
कह
रहे
हैं,
कि
महंगाई
को
लेकर
लिज
ट्रस
जो
कह
रही
हैं
और
जो
वादे
कर
रही
हैं,
वो
एक
‘परीकथा’
है।
और
अब
ऋषि
सुनक
की
बातें
सच
साबित
हो
रही
हैं।

फेल साबित हो रही हैं लिज ट्रस

फेल
साबित
हो
रही
हैं
लिज
ट्रस

ब्रिटेन
के
लोगों
ने
प्रधानमंत्री
लिज
ट्रस
के
अर्थशास्त्र
को
“ट्रसोनोमिक्स”
कहना
शुरू
कर
दिया
है
और
लिज
ट्रस
ने
अपने
चुनावी
वादे
को
पूरा
करने
के
लिए
टैक्स
मे
भारी
कटौती
की
है
और
उन्होंने
उन्होंने
वित्तीय
संस्थानों
से
भारी
उधार
लेना
शुरू
कर
दिया
है,
जिसमें
दुनियाभर
के
बाजार
को
हिला
कर
रख
दिया
है
और
डॉलर
के
मुकाबले
पाउंड
की
स्थिति
बुरी
तरह
से
लड़खड़ा
गई
है,
जिसकी
वजह
से
देश
के
लोगों
में
अब
लिज
ट्रस
के
खिलाफ
गुस्सा
फूट
रहा
है।
लिज
ट्रस
के
साथ
बहस
के
दौरान
ऋषि
सनक
ने
अपनी
टिप्पणियों
में
भविष्यवाणी
की
थी,
कि
अगर
लिज
ट्रस
के
रास्ते
पर
चला
गया,
तो
ब्रिटेन
भारी
मुसीबत
में
फंस
सकता
है,
लिहाजा
सरकार
को
टैक्स
में
कटौती
करने
के
लिए
काफी
सोच
समझकर
ही
कोई
फैसला
करना
चाहिए।
उन्होंने
कहा
कि,
महंगाई
के
बीच
उन
लोगों
की
मदद
करने
के
लिए
कदम
उठाने
चाहिए,
जो
कमजोर
लोग
हैं
और
जिन्हें
वाकई
मदद
की
जरूरत
है,
ना
कि
सभी
लोगों
को
राहत
दी
जा
सकती
है।
अपने
इन्हीं
विचारों
की
वजह
से
ऋषि
सुनक
चुनाव
हार
गये
थे
और
लिज
ट्रस
जीत
गईं
थीं।

ऋषि
सुनक
ने
क्या
चेतावनी
दी
थी?

ऋषि
सनक
ने
चुनावी
कैम्पेन
के
दौरान
कहा
था
कि,
“लिज़
की
योजनाएं
हर
किसी
के
लिए
पृथ्वी
सौंपने
का
वादा
कर
रही
हैं।
मुझे
नहीं
लगता
कि
आप
अपना
केक
भी
खा
सकते
हैं।
मुझे
नहीं
लगता
कि
जीवन
इतना
आसान
है,
और
मुझे
लगता
है
कि
उनकी
योजना
में
सारी
चीजों
को
खराब
करने
की
जोखिम
से
भरी
हुई
हैं।”
बीबीसी
के
साक्षात्कार
में
ब्रिटेन
के
पूर्व
चांसलर
सुनक
ने
कहा
कि,
वे
ब्रिटेन
के
सबसे
कमजोर
परिवारों
को
जीवन
यापन
के
संकट
में
मदद
करने
के
लिए
प्रतिबद्ध
हैं।
उन्होंने
कहा
कि
सर्दियों
के
मौसम
में
गरीबों
को
अतिरिक्त
सहायता
प्रदान
करना
उनकी
प्राथिमिकता
है।
आपको
बता
दें
कि,
ब्रिटेन
इस
वक्त
घोर
ऊर्जा
संकट
की
दौर
से
गुजर
रहा
है।
इसका
देश
की
आर्थिक
स्थिति
पर
भी
गहरा
असर
पड़ा
है।
जिसके
कारण
बढ़ती
मुद्रास्फीति
और
कीमतों
का
मुद्दा
एजेंडे
पर
हावी
हो
गया
है।
ऋषि
सुनक
ने
इंटरव्यू
में
कहा
था
कि,
कोरोना
काल
में
लॉकडाउन
के
दौरान
उन्होंने
बतौर
चांसलर
रहते
काफी
काम
किया
था,
लोग
मेरे
रिकॉर्ड
के
आधार
पर
मुझे
आंक
सकते
हैं।
उन्होंने
कहा
था
कि,
“लोग
अपने
रिकॉर्ड
पर
मुझे
आंक
सकते
हैं

जब
इस
साल
की
शुरुआत
में
बिल
लगभग
1,200
पाउंड
बढ़
रहे
थे,
तो
मैंने
सुनिश्चित
किया
कि
सबसे
कमजोर
लोगों
को
लगभग
1,200
पाउंड
मिले।”


Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.