एक साल से भी कम समय में दिल्ली सरकार ने लगाए 1000 ईवी चार्जिंग पॉइंट | In less than a year, Delhi government installed 1000 EV charging points


Samachar

oi-Dharmender

|

Google Oneindia News


नई
दिल्ली,
9
अक्टूबर:

दिल्ली
सरकार
ने
सिंगल
विंडो
सुविधा
के
तहत
एक
साल
से
भी
कम
समय
में
एक
हजार
इलेक्ट्रिक
वाहन
(ईवी)
चार्जिंग
पॉइंट
लगाने
का
काम
पूरा
कर
लिया
है।
इसमें
बीएसईएस
राजधानी
पावर
लिमिटेड
(बीएसईएस)
द्वारा
315
स्थानों
पर
682
चार्जिंग
पॉइंट,
बीएसईएस
यमुना
पावर
लिमिटेड
(बीवाईपीएल)
द्वारा
70
स्थानों
पर
150
चार्जिंग
पॉइंट
और
टाटा
पावर
दिल्ली
डिस्ट्रीब्यूशन
लिमिटेड
(टीपीडीडीएल)
द्वारा
50
स्थानों
पर
168
चार्जिंग
पॉइंट
शामिल
हैं।

arvind kejriwal

इनमें
से
59
प्रतिशत
चार्जर
आरडब्ल्यूए
द्वारा,
15
प्रतिशत
कार्यालय
परिसर
में
और
13
प्रतिशत
ई-रिक्शा
पार्किंग
में
लगाए
गए
हैं।
दिल्ली
सरकार
इन
एक
हजार
चार्जिंग
पॉइंट्स
पर
सब्सिडी
के
तौर
पर
60
लाख
रुपये
खर्च
करेगी।

दिल्ली
के
परिवहन
मंत्री
कैलाश
गहलोत
ने
रविवार
को
कहा
कि,
“मुख्यमंत्री
अरविंद
केजरीवाल
के
नेतृत्व
में
पूरी
दिल्ली
में
दिल्ली
सरकार
ने
हर
तीन
किमी.
के
दायरे
में
निजी
और
सार्वजनिक
चार्जिंग
सुविधाओं
का
नेटवर्क
प्रदान
करके
पूरे
शहर
में
ईवी
चार्जिंग
बुनियादी
ढांचे
को
मजबूत
करने
के
लिए
प्रतिबद्ध
है।

यह
सिर्फ
शुरुआत
है
क्योंकि
दिल्ली
सरकार
अगले
तीन
वर्षों
में
18,000
चार्जिंग
पॉइंट
स्थापित
करने
की
योजना
बना
रही
है,
जिससे
दिल्ली
के
नागरिकों
के
लिए
आईसीई
वाहन
के
बजाय
इलेक्ट्रिक
वाहन
चुनना
आसान
हो
जाएगा।
2024
के
अंत
तक,
दिल्ली
में
खरीदे
गए
हर
चार
नए
वाहनों
में
से
एक
इलेक्ट्रिक
वाहन
होगा।

एक
हजार
इंस्टालेशन
पूरा
करने
पर,
डीडीसी
के
उपाध्यक्ष
और
दिल्ली
सरकार
के
चार्जिंग
इंफ्रास्ट्रक्चर
वर्किंग
ग्रुप
के
अध्यक्ष
जैस्मीन
शाह
ने
कहा
दिल्ली
इलेक्ट्रिक
मोबिलिटी
में
नए
इनोवेशन
लाने
के
लिए
जानी
जाती
है,
सिंगल
विंडो
सेवा
उन्हीं
में
से
एक
है।
यह
अपने
आप
में
पूरे
देश
में
एक
अनूठी
पहल
है।
सिंगल
विंडो
सुविधा
का
उद्देश्य
दिल्ली
में
ईवी
चार्जर्स
की
खरीद
को
आसान
और
परेशानी
मुक्त
बनाना
है।
इस
पहल
की
सफलता
का
श्रेय
दिल्लीवासियों,
दिल्ली
के
डिस्कॉम्स
और
पैनल
में
शामिल
एजेंसियों
को
जाता
है।

उल्लेखनीय
है
कि
चार्जिंग
पॉइंट्स
की
व्यापक
स्थापना
दिल्ली
में
इलेक्ट्रिक
वाहनों
को
तेजी
से
अपनाने
का
एक
प्रमुख
कारण
रही
है।
दिल्ली
ईवी
नीति
अगस्त
2020
में
दिल्ली
को
भारत
की
ईवी
राजधानी
के
रूप
में
स्थापित
करने
और
वाहन
क्षेत्रों
में
ईवी
अपनाने
की
गति
में
तेजी
लाने
के
उद्देश्य
से
शुरू
की
गई
थी।
दिल्ली
ईवी
नीति
2020
के
तहत,
अब
तक
72,000
से
अधिक
इलेक्ट्रिक
वाहन
बेचे
जा
चुके
हैं,
जिसमें
वर्ष
2022
में
ही
41,000
से
अधिक
ईवी
बेचे
गए
हैं।
हर
महीने
बेचे
जाने
वाले
कुल
वाहनों
में
ईवी
का
योगदान
लगभग
10
प्रतिशत
है।
दिल्ली
ने
भी
इस
साल
मार्च
में
बीके
कुल
वाहनों
का
12.5
फीसदी
ईवी
था
,
जो
भारत
में
सभी
राज्यों
में
सबसे
ज्यादा
है।

ये भी पढ़ें- दो दिन में 2,000 पुराने वाहनों की शिकायतें मिलीं, दिल्ली सरकार जल्द करेगी कार्रवाईये
भी
पढ़ें-
दो
दिन
में
2,000
पुराने
वाहनों
की
शिकायतें
मिलीं,
दिल्ली
सरकार
जल्द
करेगी
कार्रवाई

English summary

In less than a year, Delhi government installed 1000 EV charging points

Story first published: Sunday, October 9, 2022, 17:56 [IST]



Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.