कोबरा ने बालिका को दो बार डंसा, चूहा समझकर किए अनदेखा लेकिन मौत के बाद सपेरा बुलाने पर खुला राज | Cobra snake bites girl twice in Ghazipur

मां के साथ सोई थी बालिका

मां
के
साथ
सोई
थी
बालिका

करंडा
थाना
क्षेत्र
के
तुलसीपुर
गांव
निवासी
नगदू
बिंद
की
12
साल
की
बेटी
मधु
रात्रि
ने
अपनी
मां
के
साथ
कमरे
में
सोई
थी।
बताया
जा
रहा
है
कि
इसी
दौरान
एक
जहरीला
सांप
वहां
पहुंचा
और
मधु
को
डंस
लिया।
सांप
डंसने
के
बाद
मधु
ने
अपनी
मां
को
उठाया
और
किसी
जंतु
के
काटने
के
बारे
में
बताई।
उसकी
मां
उठने
के
बाद
बिस्‍तर
के
अगल-बगल
देखी
लेकिन
कोई
भी
जंतु
दिखाई
नहीं
दिया।
उसके
बाद
बालिका
को
नीम
का
पत्ती
खिलाया
गया।
नीम
का
पत्ती
खाने
पर
बालिका
को
नीम
की
पत्ती
तीखी
लगी।
ऐसे
में
लोगों
को
लगा
कि
उसे
चूहे
या
किसी
अन्‍य
जंतु
ने
काटा
है
और
लोग
उसे
लोग
सुला
दिए।

सोने के कुछ देर बाद फिर सांप ने डंस लिया

सोने
के
कुछ
देर
बाद
फिर
सांप
ने
डंस
लिया

सोने
के
कुछ
देर
बाद
सांप
ने
उसे
पुनः
डंस
लिया।
दोबारा
सांप
के
डंसने
पर
बालिका
की
हालत
बिगड़ने
लगी
उसने
अपनी
मां
को
किसी
तरह
जगाया
उसके
बाद
वह
अचेत
हो
गई।
रात
में
ही
उसके
परिजन
सांप
का
जहर
उतारने
के
लिए
गाजीपुर
स्थित
अमवा
की
सती
माई
के
धाम
में
ले
गए।
वहां
पहुंचने
से
पहले
ही
शरीर
में
विष
फैल
जाने
के
चलते
बालिका
की
मौत
हो
गई।
बालिका
की
मौत
के
बाद
परिवार
में
कोहराम
मच
गया।
परिजन
उसकी
लाश
को
घर
लाए
और
उसके
बाद
मां
का
रो-रो
कर
बुरा
हाल
हो
गया।

सांप पकड़ने के लिए बुलाया गया सपेरा

सांप
पकड़ने
के
लिए
बुलाया
गया
सपेरा

बालिका
की
लाश
घर
पर
रख
कर
परिजनों
ने
सांप
को
खोजना
शुरु
किया।
काफी
खोजबीन
के
बाद
भी
सांप
नहीं
मिला।
उसके
बाद
परिजनों
ने
ठान
लिया
कि
सांप
मिलने
के
बाद
ही
उसका
अंतिम
संस्कार
किया
जाएगा।
परिजनों
ने
जिले
में
सांप
पकड़ने
के
लिए
मशहूर
धीरज
को
बुलवाए।
काफी
देर
तक
प्रयास
करने
के
बाद
कच्ची
दीवाल
में
जहरीला
कोबरा
सांप
छुपा
हुआ
मिला।
उसके
बाद
धीरज
ने
उसे
पकड़
लिया
और
जंगल
में
ले
जाकर
छोड़
दिया,
उसके
बाद
परिजनों
द्वारा
बालिका
का
अंतिम
संस्कार
किया
गया।
इस
घटना
की
चर्चा
पूरे
क्षेत्र
में
दिन
भर
चलती
रही।

Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.