‘जो अपने कार्यकर्ताओं का सम्मान नहीं करता…’, शिवराज ने कमलनाथ की ‘कार ले ले’ वाले बयान पर किया तंज | shivraj singh chouhan on Kamal Nath over ‘lend my car’ remark

India

oi-Pallavi Kumari

|

Google Oneindia News


नई
दिल्ली,
20
सितंबर:

मध्य
प्रदेश
कांग्रेस
अध्यक्ष
कमलनाथ
की
“मेरी
कार
उधार
ले
लो”
वाली
टिप्पणी
पर
मुख्यमंत्री
शिवराज
सिंह
चौहान
ने
जोरदार
तंज
किया
है।
मुख्यमंत्री
शिवराज
सिंह
चौहान
ने
पूछा
कि
जो
पार्टी
अपने
कार्यकर्ताओं
का
भी
सम्मान
नहीं
करती
है,
वह
अपने
लोगों
की
सेवा
कैसे
कर
पाएगी।
शिवराज
सिंह
चौहान
ने
एक
जनसभा
में
कहा,
“जो
अपने
कार्यकर्ताओं
का
भी
सम्मान
नहीं
करता,
क्या
वह
पार्टी
अपने
लोगों
की
सेवा
कर
पाएगी?”
कमलनाथ
ने
रविवार
को
कहा
कि
उनकी
पार्टी
किसी
को
भी
पार्टी
छोड़ने
से
नहीं
रोकेगी
और
अगर
कोई
भारतीय
जनता
पार्टी
(भाजपा)
में
शामिल
होना
चाहता
है
तो
वह
अपनी
कार
उधार
दे
देंगे।

kamal nath


‘कांग्रेस
की
हालत
ऐसी
है
कि
एक
दिल
के
टुकड़े
हजार
हुए…’

सीएम
शिवराज
सिंह
चौहान
ने
कहा,
मध्यप्रदेश
के
कांग्रेस
के
अध्यक्ष
तो
ये
कह
रहे
हैं
कि
जाओ
जिसको
जहां
जाना
है,
वह
कार
से
छोड़
आएंगे।
अब
आप
बताइए
कि
जिसके
मन
में
अपने
कार्यकर्ताओं
के
लिए
सम्मान
का
भाव
नहीं
है,
वो
पार्टी
जनता
का
भला
कर
सकती
है
क्या….?
कांग्रेस
की
हालत
ऐसी
हुई
है
कि
एक
दिल
के
टुकड़े
हजार
हुए,
कोई
इधर
गिरा,
कोई
ऊधर
गिरा…।”


कमलनाथ
के
किस
बयान
पर
मचा
हंगामा?

कांग्रेस
नेता
कमलनाथ
का
यह
बयान
गोवा
से
कांग्रेस
के
11
में
से
आठ
विधायकों
के
भाजपा
में
शामिल
होने
के
कुछ
दिनों
बाद
आया
है।
मध्य
प्रदेश
के
पूर्व
मुख्यमंत्री
कमलनाथ
ने
कांग्रेस
से
मीडिया
में
पलायन
के
बारे
में
पूछे
जाने
पर
कहा,
”क्या
सोच
रहे
हो?
खत्म
हो
जाएगी
कांग्रेस?
आप
कह
रहे
हैं
कि
कुछ
लोग
भाजपा
में
शामिल
होना
चाहते
हैं।
जो
भी
बीजेपी
में
शामिल
होना
चाहता
है
वो
जा
सकता
है।
हम
किसी
को
रोकना
नहीं
चाहते।”

वरिष्ठ
नेता
कमलनाथ
ने
कहा,
“अगर
कांग्रेस
नेता
और
पदाधिकारी
जाना
चाहते
हैं
और
अपने
भविष्य
और
अपने
विचारों
को
भाजपा
के
साथ
देखना
चाहते
हैं।
तो
मैं
उन्हें
अपनी
मोटर
(कार)
उधार
दूंगा
और
भाजपा
में
शामिल
हो
सकते
हैं।”
लंबे
समय
से
गांधी
परिवार
के
वफादार
रहे
कमलनाथ
ने
कहा
कि
वह
किसी
को
शांत
करने
में
विश्वास
नहीं
करते
हैं,
यह
कहते
हुए
कि
पार्टी
की
ओर
से
किसी
पर
कोई
दबाव
नहीं
है।
उन्होंने
कहा
था,
कांग्रेस
में
लोग
समर्पण
के
साथ
काम
कर
रहे
हैं।
उन
पर
पार्टी
की
ओर
से
कोई
दबाव
नहीं
है।’

हाल
ही
में,
नाथ
के
करीबी
सहयोगी
और
मध्य
प्रदेश
के
पूर्व
विधायक
अरुणोदय
चौबे
ने
कांग्रेस
छोड़
दी।
उनके
इस्तीफे
के
बाद,
दो
दर्जन
से
अधिक
प्रमुख
विधायकों
ने
उनके
समर्थन
में
कांग्रेस
से
इस्तीफा
दे
दिया।

ये भी पढ़ें- 'राहुल गांधी ही कांग्रेस अध्यक्ष के लिए पहली पसंद हैं...', अशोक गहलोत के करीबी सूत्र का दावाये
भी
पढ़ें-
‘राहुल
गांधी
ही
कांग्रेस
अध्यक्ष
के
लिए
पहली
पसंद
हैं…’,
अशोक
गहलोत
के
करीबी
सूत्र
का
दावा

English summary

shivraj singh chouhan on Kamal Nath over ‘lend my car’ remark


Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.