डायनासोर का अंत को लेकर बड़ा खुलासा, विलुप्त होने से पहले ही खत्म होने लगे थे | dinosaurs were not very diverse and had declined before extinction 66 million years ago

डायनासोर को लेकर कहानियां

डायनासोर
को
लेकर
कहानियां

अगर
आप
किताब
या
इंटरनेट
के
माध्यम
से
डायनासोर
के
बारे
में
जानेंगे
तो
आपको
इनसे
जुड़ी
कई
जानकारियां
प्राप्त
होंगी।
डायनासोर
से
जुड़ी
कुछ
असली
कई
मनगढ़ंत
कहानियां
आपको
पढ़ने
को
मिलेंगी।
धरती
के
इन
विशालकाय
जीवों
को
लेकर
कई
हॉलीवुड
की
फिल्में
भी
आपने
देखी
होंगी।
आप
कल्पना
कर
सकते
हैं
कि,
आज
से
करोड़ों
वर्षों
पहले
हमारी
धरती
पर
कितने
ताकतवर
जीव
रहा
करते
थे।
आज
वे
जीव
धरती
पर
नहीं
हैं।
उनके
जीवाश्म
अंडे,
हड्डियां
हमें
धरती
के
भीतर
या
किसी
घने
जंगलों
में
अभी
भी
मिलते
रहते
हैं
जो
वैज्ञानिकों
के
लिए
एक
अध्ययन
का
विषय
है।
शोधकर्ता
हमें
समय-समय
पर
इन
जीवाश्मों
की
सहायता
से
हमें
डायनासोर
से
जुड़े
तथ्यों
के
रहस्यों
का
उजागर
करते
हैं।

विलुप्त होने से पहले खत्म होने की कगार पर थे डायनासोर

विलुप्त
होने
से
पहले
खत्म
होने
की
कगार
पर
थे
डायनासोर

चीन
में
हाल
फिलहाल
में
डायनासोर
के
अंडों
के
अवशेषों
पर
एक
अध्ययन
किया
गया
है।
इस
चौंकाने
वाले
स्टडी
में
यह
पता
चला
है
कि,
डायनासोर
की
प्रजातियां
विविध
नहीं
थीं।
डायनासोर
धरती
से
खत्म
होने
से
पहले
ही
विलुप्त
होने
की
कगार
पर
पहुंच
चुके
थे।
शोधकर्ताओं
ने
इसके
पीछे
जलवायु
परिवर्तन
और
ज्वालामुखी
विस्फोटों
को
जिम्मेदार
ठहराया
है।
लगातार
होते
जलवायु
परिवर्तन,
भारत
में
डेक्कन
ट्रैप
की
वजह
से
बड़े
पैमाने
पर
ज्वालामुखी
विस्फोट
की
वजह
से
पृथ्वी
का
इकोसिस्टम
(
Ecosystem-पारिस्थितिकी
तंत्र)
डायनासोर
जैसे
महान
जीवों
के
लिए
रहने
के
लायक
नहीं
बचा
था।

कैसे हुआ डायनासोर का अंत?

कैसे
हुआ
डायनासोर
का
अंत?

माना
जाता
है
कि
क्रिटेशियस
अवधि
के
अंत
में
(the
end
of
the
Cretacious
period)
यानी
की
आज
से
145
से
6.6
करोड़
साल
पहले
एक
बड़ा
क्षुद्र
ग्रह
पृथ्वी
से
टकराया
था।
धरती
पर
उस
समय
प्रलय

गया
था
जिसमें
उनके
एक
मात्र
जीवित
वंशज
पक्षियों
को
छोड़कर
सब
डायनासोर
इतिहास
बनकर
रह
गए।
अब
इस
पर
व्यापक
बहस
भी
चल
रही
है
कि,क्या
वाकई
में
खत्म
होने
से
पहले
ही
डायनासोर
विलुप्त
होने
की
कगार
पर
पहुंच
चुके
थे।

डायनासोर से जुड़े आंकड़े

डायनासोर
से
जुड़े
आंकड़े

डायनासोर
के
अंतिम
दिनों
के
अधिकांश
वैज्ञानिक
आंकड़े
उत्तरी
अमेरिका
से
आते
हैं।
हालांकि
कुछ
प्रकाशित
अध्ययनों
से
पता
चलता
है
कि
विलुप्त
होने
से
पहले
डायनासोर
की
आबादी
काफी
अच्छी
तरह
से
बढ़
रही
थी।
अन्य
विस्तृत
शोध
के
मुताबिक,
डायनासोर
की
संख्या
लगातार
कम
हो
रही
थी,
जिसने
उनके
सामूहिक
विलुप्त
होने
का
मंच
तैयार
किया।

डायनासोर को लेकर लगातार हो रहा अध्ययन

डायनासोर
को
लेकर
लगातार
हो
रहा
अध्ययन

चाइनीज
एकेडमी
ऑफ
साइंसेज
के
शोधकर्ताओं
ने
मध्य
चीन
के
शनयांग
बेसिन
से
1,000
से
अधिक
जीवाश्म
डायनासोर
के
अंडे
और
उनके
छिलके
का
अध्ययन
किया।
ये
जीवाश्म
लगभग
150
मीटर
की
कुल
मोटाई
वाले
रॉक
सीक्वेंस
से
आए
हैं।
हाल
ही
में
पीएनएएस
पत्रिका
में
प्रकाशित
शोध
ने
5,500
से
अधिक
भूगर्भीय
नमूनों
का
विश्लेषण
और
कंप्यूटर
मॉडलिंग
की
सहायता
से
चट्टान
की
परतों
का
विस्तृत
आयु
अनुमान
प्राप्त
किया।

डायनासोर एक रोचक विषय

डायनासोर
एक
रोचक
विषय

बता
दें
कि,
विलुप्त
होने
के
करोड़ो
साल
बाद
भी
डायनासोर
हम
इंसानों
के
लिए
एक
रोचक
विषय
रहा
है
और
आगे
भी
रहेगा
और
इनसे
जुड़े
शोध
निरंतर
होते
रहेंगे
और
हमें
नई-नई
जानकारियां
प्राप्त
होती
रहेंगी।


(Photo
Credit
:
Twitter
&
Instagram)


ये
भी
पढ़ें
:अब
खुद
UK
ने
भी
माना,
भारतीय
अर्थव्यवस्था
निकल
जाएगी
काफी
ज्यादा
आगे,
भारत
बनेगा
तीसरी
महाशक्ति

Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.