डोनेत्स्क और लुहांस्क सहित यूक्रेन के 4 इलाकों में जनमत संग्रह कराएंगे पुतिन, क्या बना पाएंगे रूस का हिस्सा? | Russia to hold referendums in 4 regions of Ukraine including Donetsk and Luhansk

कई इलाके अभी भी यूक्रेन के नियंत्रण में

कई
इलाके
अभी
भी
यूक्रेन
के
नियंत्रण
में

क्रेमलिन
यूक्रेन
के
उन
क्षेत्रों
पर
कब्जा
करने
के
लिए
जल्दबाजी
में
वोटिंग
करा
रहा
है,
जो
अभी
भी
यूक्रेनी
सेना
के
नियंत्रण
में
है,
क्योंकि
कीव
की
सेना
ने
अपने
7
महीने
पुराने
आक्रमण
में
लिए
गए
क्षेत्र
के
बड़े
क्षेत्रों
से
रूसी
सैनिकों
को
खदेड़
दिया
था।
मॉस्को
में,
अधिकारियों
ने
रूस
नियंत्रित
यूक्रेन
के
पूर्वी
और
दक्षिणी
क्षेत्रों
ने
मंगलवार
को
रूस
का
अभिन्न
हिस्सा
बनने
के
लिए
जनमत
संग्रह
कराने
की
घोषणा
की।

वोटिंग को पश्चिमी देश नहीं देंगे मान्यता

वोटिंग
को
पश्चिमी
देश
नहीं
देंगे
मान्यता

रूस
के
पूर्व
राष्ट्रपति
दिमित्री
मेदवदेव
ने
भी
कहा
कि
पूर्वी
यूक्रेन
क्षेत्रों
का
रूस
में
विलय
और
उनकी
सीमा
को
पुन:
परिभाषित
करना
‘अटल’
है
और
इससे
रूस
उसकी
रक्षा
करने
के
लिए
‘कोई
भी
कदम’
उठाने
में
सक्षम
होगा।
हालांकि
यह
लगभग
तय
है
कि
रूस
द्वारा
कराया
गया
जनमत
संग्रह
मॉस्को
के
पक्ष
में
जाएगा,
लेकिन
यूक्रेन
की
सेना
का
समर्थन
कर
रही
पश्चिमी
सरकारें
इसे
मान्यता
नहीं
देंगी।
यह
जनमत
संग्रह
रूस
को
ऐसे
समय
लड़ाई
तेज
करने
का
मौका
देगा,
जब
यूक्रेन
की
सेना
बढ़त
बना
रही
है।

मंगलवार तक पुतिन दे सकते हैं बयान

मंगलवार
तक
पुतिन
दे
सकते
हैं
बयान

रूस
ने
कहा
है
कि
वह
उस
क्षेत्र
को
नहीं
छोड़ेगा
जिसे
वह
अपना
मानता
है
जबकि
कीव
ने
मास्को
द्वारा
ली
गई
किसी
भी
भूमि
को
छोड़ने
से
इनकार
कर
दिया
है।
रूस
की
आरबीसी
समाचार
वेबसाइट
ने
बताया
कि
पुतिन
मंगलवार
तक
इस
पर
सार्वजनिक
बयान
दे
सकते
हैं।
डोनेत्स्क
और
लुहांस्क,
जिस
डोनबास
प्रांत
का
हिस्सा
हैं,
वह
रूस
और
यूक्रेन
के
बीच
तनाव
की
मुख्य
जड़
रहा
है।
दरअसल,
सोवियत
संघ
के
विघटन
के
बाद
डोनबास
क्षेत्र
यूक्रेन
का
हिस्सा
बना।
उधर,
रूस
का
कहना
है
कि
डोनबास
की
अधिकतर
जनता
रूसी
भाषा
बोलती
है
और
इसलिए
उसे
यूक्रेन
के
राष्ट्रवाद
से
बचाया
जाना
जरूरी
है।

लुहांस्क और डोनेत्स्क पर 2014 से अलगावादियों का कब्जा

लुहांस्क
और
डोनेत्स्क
पर
2014
से
अलगावादियों
का
कब्जा

गौरतलब
है
कि
लुहांस्क
और
डोनेत्स्क
संयुक्त
रूप
से
डोनबास
इलाके
का
बड़ा
हिस्सा
है
जहां
पर
वर्ष
2014
से
ही
अलगावादियों
का
कब्जा
है
और
पुतिन
ने
रूसी
हमले
के
लिए
इसे
प्राथमिक
आधार
बनाया
था।
दोनेत्स्क
के
अलगावादी
नेता
डेनिस
पुशीलिन
ने
कहा,
”लंबे
समय
से
पीड़ा
सह
रही
डोनबास
की
जनता
ने
उस
महान
देश
का
हिस्सा
बनने
का
अधिकार
प्राप्त
किया
है
जिसे
वह
हमेशा
से
अपनी
मातृभूमि
मानती
हैं।”
उन्होंने
कहा
कि
जनमत
संग्रह
से
”लाखों
रूसी
लोगों
को
ऐतिहासिक
न्याय
मिलेगा,
जिसका
इंतजार
वे
कर
रहे
थे।”

कितना महत्वपूर्ण है डोनबास्क इलाका?

कितना
महत्वपूर्ण
है
डोनबास्क
इलाका?

पूर्वी
यूक्रेन
में
रूस
की
सीमा
से
लगे
डोनेत्स्क
की
गिनती
एक
समय
यूक्रेन
के
सबसे
बड़े
औद्योगिक
क्षेत्र
के
तौर
पर
होती
थी।
यह
डोनबास
राज्य
का
मुख्य
शहर
है,
जहां
कई
अहम
खनिजों
का
भंडार
है।
यह
शहर
यूक्रेन
के
बड़े
स्टील
उत्पादक
केंद्रों
में
से
है।
यहां
की
जनसंख्या
करीब
20
लाख
है।
वहीं,
लुहांस्क
जिसे
पहले
वोरोशिलोवग्राद
के
नाम
से
जाना
जाता
था,
यूक्रेन
के
लिए
कोयले
का
अहम
भंडार
है।
यह
शहर
भी
डोनबास
क्षेत्र
का
हिस्सा
है
और
रूस
के
साथ
सीमा
साझा
करता
है।
इस
शहर
का
उत्तरी
हिस्सा
ब्लैक
सी
से
लगता
है।

Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.