सर्दियां आई भी नहीं लेकिन जहरीली होने लगी दिल्ली की हवा, कई इलाकों में एयर क्वालिटी इंडेक्स 400 के पार | Delhi Air quality starts dipping AQI At 400 know all update

दिल्ली के कई इलाकों में AQI 400 के पार

दिल्ली के कई इलाकों में AQI 400 के पार

दिल्ली की वायु गुणवत्ता (एयर क्वालिटी इंडेक्स) सोमवार को ‘मध्यम’ श्रेणी से खराब कैटेगरी में पहुंच गई। 0 से 500 के पैमाने पर वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) नापी जाती है। 0-200 के बीच हवा की गुणवत्ता सही मानी जाती है। पिछले कुछ दिनों में दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स इसी कैटेगरी में था। इस बीच, सोमवार शाम 5 बजे आनंद विहार में एक्यूआई ‘गंभीर’ स्तर पर 405 था। द्वारका में एक्यूआई 215, आईटीओ में 209, मुंडका में 215 और रोहिणी में 201, सभी ‘खराब’ श्रेणी में थे।

क्यों प्रदूषित हो रही है दिल्ली की हवा

क्यों प्रदूषित हो रही है दिल्ली की हवा

हालांकि सोमवार को दोपहर 2 बजे के आसपास हवा की गुणवत्ता खराब होने लगी थी लेकिन शाम 6 बजे से इसमें थोड़ा सुधार होने लगा। मौसम विश्लेषकों के अनुसार, दिल्ली में मौसम संबंधी स्थितियां कम गति वाली गोलाकार हवाओं के कारण प्रदूषकों के वेंटिलेशन का समर्थन नहीं करती हैं। उच्च नमी प्रतिधारण और शांत हवाएं प्रदूषक संचय का कारण बनती हैं, जिससे कई क्षेत्रों में हवा की गुणवत्ता बिगड़ती है।

दिल्ली में तापमान में हुई गिरावट

दिल्ली में तापमान में हुई गिरावट

दिल्ली के अधिकतम तापमान में भी मामूली गिरावट देखी गई है। सफदरजंग के बेस वेदर स्टेशन में सोमवार को अधिकतम तापमान 33.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो मौसम के औसत से एक डिग्री कम और रविवार को 34.7 डिग्री सेल्सियस से कम था। सोमवार को न्यूनतम तापमान 24.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि मौसम का औसत 23.8 डिग्री सेल्सियस था।

दिल्ली में अगले दो से तीन दिनों में होगी बारिश

दिल्ली में अगले दो से तीन दिनों में होगी बारिश

मौसम विभाग ने कहा है कि दिल्ली में अगले दो से तीन दिनों के भीतर शहर में हल्की बारिश हो सकती है। वहीं पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट के उपाध्यक्ष (मौसम विज्ञान और जलवायु परिवर्तन) महेश पलावत ने कहा, ”दिल्ली में हवा में नमी की मात्रा बहुत अधिक है। परिवर्तनशील शांत हवाओं को भी देखना जो प्रदूषकों के फैलाव के लिए बहुत सहायक नहीं हैं। ये सभी कारक धुंध की ओर ले जा रहे हैं। उत्तर-पूर्वी और उत्तर-पश्चिमी उत्तर प्रदेश पर एक कम दबाव का क्षेत्र भी बना हुआ है। इसलिए, अगले दो से तीन दिनों तक इस क्षेत्र में हल्की से बहुत हल्की बारिश होने की संभावना है।”

Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.