स्पाइसजेट के 80 पायलट को छुट्टी पर भेजा गया | 80 pilots of spicejet sent to leave without pay.

Business

oi-Ankur Singh

|

Google Oneindia News

नई दिल्ली, 20 सितंबर। स्पाइसजेट ने बड़ी संख्या में पायलट्स को बाहर करने का फैसला लिया है। रिपोर्ट के अनुसार स्पाइसजेट ने 80 पायलट्स को लीव विदाउट पे पर भेज दिया है। कंपनी ने तीन महीने के लिए इन पायलट्स को लीव विदाउट पे पर भेजा है, जिससे कि विमान कंपनी अपने खर्चों को कम कर सके। कंपनी के एक करीबी सूत्र ने बताया कि तकरीबन 70-80 पायलट्स जोकि बोइंग 737 फ्लीट व बॉम्बरडियर क्यू 400 का हिस्सा थें, उन्हे तीन महीने के लिए लीव विदाउट पे पर भेज दिया गया है।

spicejet

इसे भी पढ़ें- अपने शिक्षकों के ट्रांसफर के विरोध में छात्रों ने पश्चिम बंगाल में रोक दी ट्रेन, पटरी पर बैठ कर रहे प्रदर्शनइसे भी पढ़ें- अपने शिक्षकों के ट्रांसफर के विरोध में छात्रों ने पश्चिम बंगाल में रोक दी ट्रेन, पटरी पर बैठ कर रहे प्रदर्शन

मिंट की रिपोर्ट के अनुसार कंपनी की ओर से कहा गया है कि कुछ पायलट्स को तीन महीने के लिए अस्थायी तौर पर एलओपी पर भेजा गया है, ताकि खर्चों को कम किया जा सके। इस कदम से एयरलाइंस को अपने पायलट्स को जरूरत के अनुसार इस्तेमाल करने में मदद मिलेगी। बता दें कि 27 जुलाई के बाद से कंपनी अपने 50 फीसदी विमानों को ही यात्रियों के लिए चला रही है। कंपनी पर डीजीसीए ने यह प्रतिबंध लगाया था, जिसकी वजह से कंपनी ने यह फैसला लिया है। डीजीसीए ने स्पाइसजेट पर 27 जुलाई को 8 हफ्ते का प्रतिबंध लगाया था और सिर्फ 50 फीसदी विमानों को ही उड़ाने की अनुमति दी थी।

दरअसल जिस तरह से स्पाइसजेट के विमानों में कई बार तकनीकी खामी देखने को मिली उसकी वजह से कंपनी पर डीजीसीए की पैनी नजर है और यह टेक्निकल राडार में है। कंपनी पर मई माह में रैंसमवेयर अटैक हुआ था, जिसकी वजह से कंपनी को अपनी कमाई का आंकड़ा जारी करने में देरी हुई। कंपनी ने अपनी कमाई को 31 अगस्त को लोगों के बीच जारी किया, साथ ही कंपनी ने अपनी वार्षिक आम बैठक को करने के लिए कुछ समय मांगा है। कंपनी के सीएमडी अजय सिंह ने हाल ही में कहा कि कंपनी 200 मिलियन डॉलर के निवेश के लिए बैंकर्स से संपर्क कर रही है।

English summary

80 pilots of spicejet sent to leave without pay.

Story first published: Tuesday, September 20, 2022, 19:52 [IST]

Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.