MP: कृपया ध्यान दीजिए, वायरोलाॅजी लैब में कोविड आरटीपीसीआर जांच अनिश्चितकाल के लिए बंद! | mp, sagar, bmc, virology, covid, investigation, indefinite, closed

Madhya Pradesh

oi-Chaitanyadas Soni

|

Google Oneindia News

सागर, 22 सितंबर। मप्र में सरकारी मेडिकल कॉलेजों, जिला अस्पतालों सहित अधिकृत शासकीय वायरोलॉजी लैब में कोरोना की जांच बंद हो गई हैं। कारण शासन ने इन वायरोलॉजी लैबों को दिया जाने वाला बजट बंद कर दिया है। सागर के बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में फ्लू ओपीडी के बाहर सूचना चस्पा कर दी गई है। इसमें स्पष्ट लिखा है कि वायरोलॉजी लैब में आरटीपीसीआर से कोविड की जांचे अनिश्चितकाल के बंद कर दी गई हैं। हालांकि सैंपल कलेक्शन किया जाएगा, लेकिन रिपोर्ट कब तब आएगी इसको लेकर कोई समय-सीमा नहीं रहेगी।

कोविड में बजट का संकट, सैंपलिंग होगी, लेकिन जांच नहीं होगी

बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज को करीब एक महीने से कोविड की जांच के लिए वायरोलॉजी को दिया जाने वाला बजट बंद कर दिया गया है। भोपाल की स्टेट वायरोलाॅजी और एम्स की वायरोलॉजी लैब को छोड़कर स्टेट की बाकी वायरोलॉजी में कोविड संक्रमण का पता करने के लिए आरटीपीसीआर किट से जांचे बंद कर दी गई हैं। बीएमसी को करीब 90 लाख रुपए महीने का बजट शासन से मिलता था। डेढ़ महीने से अधिक समय पहले अघौषित रुप से सूचना भेजी गई थी कि अब काॅलेज को यह कोविड बजट नहीं मिलेगा। इसके बाद जो किट कॉलेज में उपलब्ध थीं, उससे इमरजेंसी और गंभीर मरीजों की जांच की गई, लेकिन करीब दो हफ्ते से लैब में कोविड जांच पूरी तरह बंद कर दी गई हैं। बाकायदा मरीजों और नौकरी, विदेश यात्रा, इंटरव्यू के लिए आवश्यक बनाए गए नियम कोविड जांच रिपोर्ट वालों को लिखित सूचना चस्पा कर सार्वजनिक रुप से जानकारी दी गई है।

 लंपी वायरस: Sagar में कंट्रोल रुम बनाया, संक्रमित गाय से एक किलोमीटर तक होगा वैक्सीनेशन लंपी वायरस: Sagar में कंट्रोल रुम बनाया, संक्रमित गाय से एक किलोमीटर तक होगा वैक्सीनेशन

बजट बंद हो गया है, सामग्री नहीं है, कैसे जांचे होगी
बीएमसी प्रबंधन से जो जानकारी मिली है, उसके अनुसार वायरोलॉजी लैब को मिलने वाला बजट बंद हो गया हैं। केवल सागर ही नहीं बाकी मेडिकल कॉलेजों का बजट भी बंद हो गया है। हमारे पास जितनी किट थी, उतनी जांचे कर दी गई हैं। सामग्री समाप्त हो गई है। बीएमसी प्रबंधन अपने स्तर पर स्थानीय बजट से किट व अन्य सामग्री खरीदने का प्रयास कर रहा है। वैसे भी कोविड जांच के लिए मरीज कम ही आते हैं। फ्लू ओपीडी में सूचना चस्पा करने की मुझे जानकारी नहीं है।
– डॉ. सुमित रावत, नोडल अधिकारी, वायरोलाजी लैब, बीएमसी, सागर

English summary

After closing the Kovid budget given to most of the medical colleges and health department of MP, investigations of suspected patients of corona have been stopped. After finishing the budget from the government level, there is a situation of consternation in other medical colleges including Sagar. Because patients or people who have to give interviews, go abroad, RTPCR Kovid test is required, but now the investigation has stopped, people are getting upset due to this.

Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.