Zepto फाउंडर कैवल्य वोहरा बने देश के सबसे कम उम्र के अरबपति, 19 की उम्र में बनाई 1000 करोड़ की संपत्ति | India’s Youngest Entrepreneur Zepto founders Kaivalya Vohra and Aadit Palicha Enter rs 1000 Cr Club

1,000 करोड़ कमाने वाला भारत का पहला टीनएजर

1,000 करोड़ कमाने वाला भारत का पहला टीनएजर

कैवल्य वोहरा भारत के पहले टीनएजर हैं, जिनके पास 1,000 करोड़ से अधिक की संपत्ति है। वोहरा ने साल 2020 में आदित पलीचा के साथ जेप्टो की स्थापना की थी। एक साल में ही कंपनी के वैल्यूएशन में 50 फीसदी से अधिक का उछाल आ गया। शुरुआत में उनके उद्यम का नाम किरानाकार्ट था, एक ऐसा मंच जिसने ऑनलाइन डिलीवरी के लिए किराने की दुकानों के साथ पार्टनर किया था।

10 मिनट की ग्रॉसरी डिलीवरी का वादा

10 मिनट की ग्रॉसरी डिलीवरी का वादा

बाद में इसका नाम बदलकर जोप्टो कर दिया गया। जेप्टो ने नवंबर 2021 में फंडिंग में 60 मिलियन डॉलर जुटाए। प्लेटफॉर्म ने 10 मिनट की ग्रॉसरी डिलीवरी का वादा किया था। दिसंबर में एक और फंडिंग राउंड में, इसने 100 मिलियन डॉलर जुटाए। जिसके बाद इस स्टार्टटप की कीमत 570 मिलियन डॉलर पहुंच गई। इस साल मई तक, जेप्टो को 200 मिलियन डॉलर की फंडिंग प्राप्त हुई, जिससे इसका मूल्य 900 मिलियन डॉलर तक पहुंच गया।

दोनों ने बीच में छोड़ी पढ़ाई

दोनों ने बीच में छोड़ी पढ़ाई

वोहरा और पलिचा स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के छात्र थे। उन्होंने बाद में अपने कंप्यूटर साइंस कोर्स को बीच छोड़ दिया। पलिचा ने 17 साल की उम्र में अपनी उद्यमशीलता की यात्रा शुरू की थी। उन्होंने 2018 में गो-पूल नाम की एक सर्विस शुरू की थी। जो छात्रों को कारपूल सेवा देती थी। अपना स्टार्टअप शुरू करने से पहले वह गोपनीयता नीतियों पर एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) आधारित परियोजना के प्रोजेक्ट लीड थे।

बचपन के दोस्त हैं वोहरा और पलिचा

बचपन के दोस्त हैं वोहरा और पलिचा

दो बचपन के दोस्त जो दुबई में पले-बढ़े ने 2020 में शुरुआत में स्टार्टअप किरानाकार्ट लॉन्च किया था। एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है जो मुंबई में स्थानीय स्टोर से किराने का सामान पहुंचाता है। यह जून 2020 से मार्च 2021 तक चालू था। फिर उन्होंने अप्रैल 2021 में Zepto को लॉन्च किया और नवंबर में शुरुआती फंडिंग राउंड में $60 मिलियन जुटाए।

गौतम अडानी बने दुनिया के दूसरे सबसे अमीर शख्स, रच दिया इतिहास, अब नंबर-1 की कुर्सी पर नजरगौतम अडानी बने दुनिया के दूसरे सबसे अमीर शख्स, रच दिया इतिहास, अब नंबर-1 की कुर्सी पर नजर

सबसे कम उम्र के स्टार्ट-अप संस्थापक

सबसे कम उम्र के स्टार्ट-अप संस्थापक

दोनों युवा उद्यमी हुरुन इंडिया फ्यूचर यूनिकॉर्न इंडेक्स 2022 में सबसे कम उम्र के स्टार्ट-अप संस्थापक भी हैं। वोहरा और पलिचा का भारत के सबसे अमीरों की सूची में शामिल होना देश के स्टार्टअप्स के बढ़ते प्रभाव को दर्शाता रहा है। जेप्टो नाम समय की एक अत्यंत छोटी इकाई ‘जेप्टोसेकंड’ से आया है। अपने नाम की तरह ही जेप्टो मिनटों में ग्रोसरी की डिलीवरी का वादा करता है। बाद में इसे बदलकर “मिनटों में डिलीवरी” कर दिया गया।

Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.